Ind vs Aus: मेलबर्न में जीत की दहलीज़ पर खड़ी टीम इंडिया, अब चाहिए सिर्फ दो विकेट

विराट कोहली की टीम तीसरे क्रिकेट टेस्ट में जीत से सिर्फ दो विकेट दूर है। गेंद से कमाल दिखाने के बाद पैट कमिंस ने नाबाद अर्धशतक बनाकर भारत को आज मैच खत्म नहीं करने दिया।

6

मेलबर्न, जेएनएन। ऑस्ट्रेलिया के पुछल्ले बल्लेबाजों ने भारत का इंतजार जरूर लंबा करा दिया लेकिन विराट कोहली की टीम तीसरे क्रिकेट टेस्ट में जीत से सिर्फ दो विकेट दूर है जबकि रविवार को पूरे दिन का खेल बाकी है।गेंद से कमाल दिखाने के बाद पैट कमिंस ने नाबाद अर्धशतक बनाकर भारत को आज मैच खत्म नहीं करने दिया। एक समय पर चाय के बाद ऑस्ट्रेलिया के सात विकेट 176 रन पर गिर गए थे लेकिन चौथे दिन का खेल समाप्त होने पर स्कोर आठ विकेट पर 258 रन था।

कमिंस ने भारत को किया जीत से महरुम

कमिंस 103 गेंद में पांच चौकों और एक छक्के के साथ 61 रन बनाकर खेल रहे हैं जबकि नाथन लियोन ने छह रन बना लिए हैं। दोनों ने नौवे विकेट के लिये 43 रन की साझेदारी कर ली है। ऑस्ट्रेलिया को करिश्माई जीत दर्ज करने के लिये 141 रन चाहिये जबकि भारत श्रृंखला में 2-1 से बढत लेने से दो विकेट दूर है।

चाय के बाद ट्रेविस हेड (34) और टिम पेन (26) ने छठे विकेट के लिए 22 रन जोड़े। हेड को इशांत शर्मा ने 51वें ओवर में पवेलियन भेजा। पेन ने मिशेल स्टार्क (18) के साथ 19 रन जोड़े। रविंद्र जडेजा ने पेन को आउट किया तो लगा कि मैच आज ही खत्म हो जाएगा। कमिंस हालांकि दूसरे इरादों के साथ उतरे थे और एक मोर्चा उन्होंने संभाल लिया।

ऐसे गिरे ऑस्ट्रेलिया के विकेट

स्टार्क को मोहम्मद शमी ने बोल्ड किया। भारत के लिए रविंद्र जडेजा ने तीन और शमी ने दो विकेट लिए। आखिरी दो विकेट लेने के लिए भारत ने भरसक प्रयास किया। विराट कोहली ने नतीजे की संभावना देखते हुए अतिरिक्त आधे घंटे के खेल के लिए अंपायरों को भी मना लिया लेकिन कमिंस ने आज उन्हें जीत से महरूम रखा। इससे पहले चाय के समय ऑस्ट्रेलिया लक्ष्य से 261 रन पीछे था ।

लंच के बाद उस्मान ख्वाजा (33) और शॉन मार्श (44) ने आक्रामक शॉट खेले। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 30 रन जोड़े और कुछ समय के लिये भारत दबाव में आ गया था। मोहम्मद शमी ने 21वें ओवर ख्वाजा को पगबाधा आउट किया। बल्लेबाज ने डीआरएस रिव्यू लिया लेकिन फैसला उनके खिलाफ गया।

शॉन मार्श ने आक्रामक शॉट खेलना जारी रखा और अपने भाई मिशेल मार्श (10) के साथ 51 रन जोड़े। ऑस्ट्रेलिया ने 100 रन 37वें ओवर में पूरे किए।

शॉन मार्श को 33वें ओवर में जसप्रीत बुमराह की गेंद पर पगबाधा आउट दिया गया। उन्होंने भी डीआरएस का इस्तेमाल किया और गेंद स्टंप को बस छूकर निकल रही थी लिहाजा उसे आउट करार दिया गया।
मिशेल ने रविंद्र जडेजा की गेंदों पर कुछ अच्छे शॉट लगाए लेकिन वह छक्का लगाने के प्रयास में एक्स्ट्रा कवर पर विराट कोहली को कैच दे बैठे।

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया को दूसरी पारी में मनचाही शुरूआत नहीं मिल सकी और लंच तक उसके दो विकेट 44 रन पर गिर गए। दूसरे ओवर में ही आरोन फिंच (तीन) ने जसप्रीत बुमराह को दूसरी स्लिप में कैच थमा दिया।

तीन गेंद बाद अगर मयंक अग्रवाल ने शॉर्ट लेग पर ख्वाजा का कैच नहीं छोड़ा होता तो ऑस्ट्रेलिया का हाल और बुरा होता। ख्वाजा ने मार्कस हैरिस (13) के साथ दूसरे विकेट के लिए 27 रन जोड़े। रविंद्र जडेजा के पहले ओवर में भारत ने ख्वाजा के खिलाफ रिव्यू लिया जो नाकाम रहा।

जडेजा ने 10वें ओवर में हैरिस को अग्रवाल के हाथों शॉर्ट लेग पर कैच आउट कराके ऑस्ट्रेलिया की परेशानी और बढ़ा दी ।

चौथी दिन ऐसी रही भारत की बल्लेबाज़ी

इससे पहले भारत ने कल के स्कोर पांच विकेट पर 54 रन से आगे खेलते हुए 52 मिनट बल्लेबाजी की। मयंक अग्रवाल (42) ने नाथन लियोन को दो छक्के लगाकर भारत के रनगति तेज करने के इरादे जाहिर कर दिए। वह अपने पहले टेस्ट में दूसरा अर्धशतक लगाने से आठ रन से चूक गए और कमिंस ने उन्हें बोल्ड किया। रिषभ पंत (33) और रविंद्र जडेजा (पांच) ने 17 रन जोड़े । इस बीच टिम पेन ने पंत का कैच भी छोड़ा।

कमिंस ने जडेजा को गली में लपकवाकर अपना छठा विकेट लिया। इससे पहले उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2011 में था जब उन्होंने 79 रन देकर छह विकेट लिये थे। भारत ने 38वें ओवर में पंत के आउट होने के बाद पारी की घोषणा की।

ऐसा रहा है मैच का हाल

भारत ने पहली पारी में सात विकेट पर 443 रन बनाए थे। जसप्रीत बुमराह ने 33 रन देकर छह विकेट लिए थे। ऑस्ट्रेलियाई टीम 151 रन पर आउट हो गई थी। भारत ने दूसरी पारी आठ विकेट पर 106 रन बनाकर घोषित की जिससे ऑस्ट्रेलिया को 399 रन का लक्ष्य मिला।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.