63 साल में पहली बार टीम इंडिया को मिला सबसे कम उम्र का टेस्ट ओपनर

6

वेस्टइंडीज के खिलाफ 18 साल के युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने इंटरनेशनल क्रिकेट में अपना डेब्यू किया है. शॉ भारत की तरफ से टेस्ट कैप पहनने वाले 293वें खिलाडी हैं. उन्हें भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टेस्ट कैप दी थी.

पृथ्वी शॉ (18 साल 329 दिन) टेस्ट में पदार्पण करने वाले दूसरे कम उम्र के ओपनर हैं. सबसे कम उम्र में अपना पहला टेस्ट खेलने वाले सलामी बल्लेबाज विजय मेहरा थे, जिन्होंने (17 साल 265 दिन) मुंबई के ब्रेबॉर्न स्टेडियम में दिसंबर 1955 में न्यूजीलैंड के खिलाफ डेब्यू किया था.

पृथ्वी शॉ 14 प्रथम श्रेणी मैच खेलने के बाद राष्ट्रीय टीम में आए हैं. शॉ की कप्तानी में ही भारत ने इसी साल अंडर-19 विश्व कप का खिताब जीता था. सचिन ने 9 प्रथम श्रेणी मैच खेलकर टेस्ट में डेब्यू किया था.

शॉ ने पिछले साल इसी मैदान पर रणजी ट्रॉफी में पदार्पण किया था और शतक बनाया था. उन्हें इसी मैदान पर अंतरराष्ट्रीय पदार्पण करने का मौका मिला है. सबसे कम उम्र में डेब्यू करने वाले स्पेशलिस्ट बल्लेबाजों में सचिन का नाम सबसे ऊपर है. उन्होंने 16 साल 205 दिन की उम्र में इंटरनेशनल क्रिकेट में कदम रखा था.

कम उम्र के डेब्यू वाले स्पेशलिस्ट बल्लेबाज 

16 साल 205 दिन: सचिन तेंदलुकर
17 साल 265 दिन: विजय मेहरा
18 साल 013 दिन: एजी मिल्खा सिंह
18 साल 329 दिन: पृथ्वी शॉ

शॉ टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने वाले भारत के 293वें खिलाड़ी हैं. उनसे पहले हनुमा विहारी ने इंग्लैंड दौरे पर टेस्ट में पदार्पण किया था. शॉ ने पिछले साल रणजी ट्रॉफी में शतक से प्रथम श्रेणी करियर की शुरुआत की थी. उन्होंने अब तक केवल 14 प्रथम श्रेणी मैच ही खेले हैं, जिसमें उन्होंने 56.72 के औसत से 1418 रन बनाए हैं.

 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.