26/11 मुंबई हमले की 10वीं बरसी को लोगों ने याद किया / अमेरिका ने आतंकियों के बारे में जानकारी देने पर 35 करोड़ रुपए का इनाम रखा

ये हाल है 26 नवंबर, 2008 की रात मुंबई पर हुए आतंकवादी हमले के 10 साल बाद का। उस घटना के बाद से मुंबईकर ऐसी घटनाओं से बचने के तौर-तरीके सीखने में लगे हैं, तो प्रशासन खुद को चुस्त-दुरुस्त बनाने में।

12

ये हाल है 26 नवंबर, 2008 की रात मुंबई पर हुए आतंकवादी हमले के 10 साल बाद का। उस घटना के बाद से मुंबईकर ऐसी घटनाओं से बचने के तौर-तरीके सीखने में लगे हैं, तो प्रशासन खुद को चुस्त-दुरुस्त बनाने में। लोकल ट्रेन में कोई लावारिस बैग दिखते ही मुंबईकरों के कान खड़े हो जाते हैं। वह ट्रेनों में लिखे जीआरपी के नंबर डायल करने लगता है।

26 नवंबर, 2008 को मुंबई में पाकिस्‍तान से आए दस आतंकियों ने मासूमों की हत्‍या कर आतंक का नंगा नाच दिखाया था। आज इस आतंकवादी हमले की 10वीं बरसी है। मुंबई की सड़कें और वीटी स्‍टेशन और ताज होटल समेत दूसरी जगहें आज भी इस हमले की कहानी बयां करती दिखाई देती हैं। मुंबई के लिए वह काली रात थी। दस आतंकियों ने अंधाधुंध फायरिंग कर 166 मासूम लोगों की हत्‍या कर दी थी। इस हमले को अंजाम देने वालों में से महज एक को ही जिंदा पकड़ा जा सका, जिसका नाम था अजमल कसाब।

सुरक्षा खामियों को किया गया चिन्हित

मुंबई की सुरक्षा व्यवस्था तब से कई गुना बेहतर की जा चुकी है। मुंबई हमले के बाद इसकी जांच एवं सिफारिशों के लिए बनाई गई राम प्रधान समिति ने कई खामियों की ओर इशारा किया था। जमीनी सुरक्षा से लेकर समुद्री सुरक्षा तक को मजबूत करने के लिए कई सुझाव दिए थे। आज उनमें से ज्यादातर पर अमल किया जा चुका है। इनमें खुफिया तंत्र मजबूत किए जाने से लेकर कई नए सुरक्षा बलों का गठन तक शामिल है।

शहीदों को श्रद्धांजलि देने पहुंचे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देेवेंद्र फडणवीस

हमलों की 10वीं बरसी पर शहीदों को श्रद्धांजलि देने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस दक्षिण मुंबई स्थित पुलिस जिमखाना पहुंचे। यहा उन्होंने कहा- “मुंबई की सुरक्षा के लिए लड़ने और अपनी जान देने वाले बहादुर पुलिसकर्मियों को मेरी ओर से श्रद्धांजलि। हमें उन पर गर्व है और हम आगे भी अपने राज्य की सुरक्षा के लिए मेहनत करते रहेंगे।”

हमले में 6 अमेरिकी नागरिक भी मारे गए थे

मुंबई आतंकी हमले से जुड़े लोगों की सूचना देने वालों को अमेरिका 35.5 करोड़ रुपए (50 लाख डॉलर) तक का इनाम देगा। वहां के विदेश मंत्री माइकल आर पोम्पियो ने रविवार को इसका ऐलान किया। इसके मुताबिक जो भी व्यक्ति हमले की योजना बनाने वाले या इसमें मदद करने वाले की जानकारी देगा उसे पुरस्कार मिलेगा।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.