सिद्धू का ‘पाकिस्तान प्रेम’ फिर आया सामने, कहा- इन बातों में हिंदुस्तान से बेहतर

पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने अपनी पाकिस्तान यात्रा के अनुभव को दक्षिण भारत की यात्रा से बेहतर बताया है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में कहीं भी यात्रा कर लो, वहां न तो भाषा बदलती है, न ही खाना बदलता और न ही लोग बदलते हैं, जबकि दक्षिण भारत में जाने पर भाषा से लेकर खानपान तक सब कुछ बदल जाता है. सिद्धू के इस बयान को लेकर फिर से विवाद पैदा हो सकता है.

4

पंजाब के कैबिनेट मंत्री और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने एक बार फिर से पाकिस्तान की तारीफ की है. इस बार सिद्धू का पाकिस्तान प्रेम हिमाचल प्रदेश के कसौली में चल रहे लिटरेचर फेस्टिवल के दौरान देखने को मिला. कसौली लिटरेचर फेस्टिवल के पहले सत्र में चर्चा के दौरान नवजोत सिंह सिद्धू ने पाकिस्तान की अपनी यात्रा को दक्षिण भारत की यात्रा से बेहतर करार दिया.

कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि आप पाकिस्तान में कहीं भी यात्रा कर लो, वहां न तो भाषा बदलती है, न ही खाना बदलता और न ही लोग बदलते हैं, जबकि दक्षिण भारत में जाने पर भाषा से लेकर खानपान तक सब कुछ बदल जाता है. आपको दक्षिण भारत में रहने के लिए अंग्रेजी या तेलुगु सीखनी पड़ेगी, लेकिन पाकिस्तान में ऐसा जरूरी नहीं है. सिद्धू के इस पाकिस्तान प्रेम को लेकर एक बार फिर से विवाद पैदा हो सकता है.

इससे पहले सिद्धू पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथग्रहण समारोह में हिस्सा लेने के लिए पाकिस्तान गए थे और वहां के आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा से गले मिले थे. इस दौरान सिद्धू ने बाजवा और पाकिस्तान की तारीफ में जमकर कसीदे भी पढ़े थे. इस्लामाबाद में प्रेस कॉन्फ्रेंस में सिद्धू ने कहा था, ‘मैं एक मोहब्बत का पैगाम हिन्दुस्तान से लाया था, जितनी मोहब्बत मैं लेकर आया था, उससे 100 गुना ज्यादा मोहब्बत मैं वापस लेकर जा रहा हूं. पाकिस्तान से जो वापस आया है, वो सूद समेद आया है.’

पाकिस्तानी आर्मी चीफ से गले मिलने पर सिद्धू ने कहा था, ‘जनरल बाजवा साहब ने मुझे गले लगाया और कहा- हम शांति चाहते हैं. बाजवा ने कहा कि हम लोग गुरु नानक देव की 550वीं जयंती पर करतारपुर रूट खोलने पर विचार कर रहे हैं.’ इसको लेकर जमकर बवाल मचा था और बीजेपी समेत कई राजनीतिक दलों ने सिद्धू के खिलाफ प्रदर्शन किया था.

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.