लखनऊ (उत्तर प्रदेश ) : बुधवार पीएम मोदी के हमले के बाद अखिलेश यादव ने तुरंत किया पलटवार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को विपक्ष और खासतौर पर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव व बसपा सुप्रीमो मायावती पर जमकार हमला बोला ।

10

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को विपक्ष और खासतौर पर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव व बसपा सुप्रीमो मायावती पर जमकार हमला बोला । गेस्ट हाउस कांड जैसी बातों को भी मोदी जी ने मंच से अपने संबोधन में कटाक्ष किया जिससे नाखुस सपा अध्यक्ष ने तुरंत उन्हें जवाब दिया है।

जारी किए गए बयान में अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा सरकार और प्रधानमंत्री जी सभी ‘कन्फ्यूज्ड‘ हैं। उन्होंने दो-दो शपथ ले रखी है एक आर.एस.एस. की और दूसरी संविधान की। भाजपा सरकार एक तरफ आरक्षण की बात तो करने लगी है वहीँ दूसरी तरफ नौकरी के अवसर को कम कर दिया हैं जो भारतीय चोर सरकारी बैंकों से कर्ज लेकर विदेश भाग गये हैं उन उद्योगपतियो को प्रधानमंत्री जी भारत लाएंगे या नहीं इस पर भी अभी सभी भारतीयों को कंफ्यूज किया हैं फिलहाल अपनी कोई योजना तो ला नहीं पाए ।

प्रधानमंत्री जी समाजवादी पार्टी सरकार में जो विकास कार्य हुए थे उनका ही फीता काटकर उद्घाटन कर रहे हैं। वह समझते है कि देश को कन्फ्यूज्ड किया जा सकता है मगर अब जनता ने भी तय कर लिया है कि इस बार भाजपा को ही फ्यूज्ड कर देंगे।

जहाँ सभा होती है युवा वर्ग होते हैं निशाने पर

जब-जब पीएम मोदी की जनसभाएं हुई छात्रों-नौजवानों की जान पर बन आई- प्रधानमंत्री जी की सभाओं से पूर्व जो कुछ होता है वह जाहिर करता है कि सत्ता में बैठे लोगों का अहंकार कितना बढ़ गया है। सिर्फ इस आशंका में कि कहीं नौजवान छात्र-छात्रायें काला झंडा न दिखा दें इसके लिए न केवल उनकी गिरफ्तारी की जाती बल्कि जेलों में भी यातनाएं दी जाती है। लोकतंत्र में विरोध प्रदर्शन का अधिकार विपक्ष का है। लेकिन जब-जब भी प्रधानमंत्री जी और मुख्यमंत्री जी की सार्वजनिक सभाएं होती हैं तो छात्रों-नौजवानों की जान पर बन आती है। छात्राओं तक को बख्शा नहीं जाता है। यह लोकतंत्र की हत्या करने जैसा है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.