बॉलीवुड के लिए बेकार रहा नवंबर महीना, नहीं चली एक भी फिल्म

नवंबर वो महीना है जिसमें फिल्मों की रिलीज के लिए निर्माता-निर्देशकों में होड़ मची रहती है. इस साल भी ऐसा ही हुआ लेकिन उम्मीदों के विपरीत कोई भी फिल्म बॉक्स ऑफिस पर हिट नहीं हो सकी.

8

बॉलीवुड फिल्मों की रिलीज के लिए गोल्डन पीरियड माना जाने वाला नवंबर का महीना इतना भी बुरा साबित हो सकता है ये किसने सोचा था? इस साल नवंबर में रिलीज हुई तकरीबन सभी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर औंधे मुंह गिरीं. नवंबर वो महीना है जिसमें फिल्मों की रिलीज के लिए निर्माता-निर्देशकों में होड़ मची रहती है. इस साल भी ऐसा ही हुआ लेकिन उम्मीदों के विपरीत कोई भी फिल्म बॉक्स ऑफिस पर हिट नहीं हो सकी.

प्रभुराज के निर्देशन में बनी फिल्म लुप्त हो या तकरीबन 200 करोड़ के बजट से बनी आमिर-अमिताभ की फिल्म ठग्स ऑफ हिंदोस्तान, बॉक्स ऑफिस पर इस महीने कोई फिल्म अपना जादू नहीं दिखा सकी. ठग्स ऑफ हिंदोस्तान ऐसी फिल्म थी जिसमें आमिर खान और अमिताभ बच्चन पहली बार पर्दे पर साथ में नजर आए थे. लेकिन हालत कुछ ऐसी हुई कि आमिर को खुद आगे आकर इस फिल्म की असफलता का जिम्मा लेना पड़ा.

सनी देओल की फिल्म मोहल्ला अस्सी जो कि लंबे वक्त से विवादों में फंसी हुई थी, इस महीने रिलीज हुई लेकिन कोई खास कमाल नहीं दिखा सकी. गोविंदा और पहलाज निहलनी की फिल्म रंगीला राजा भी सेंसर की कैंची के लपेटे में आकर रह गई. होटल मिलन और भईयाजी सुपरहिट जैसी छुटपुट फिल्मों से तो वैसे ही ट्रेड विशेषज्ञों को कोई खास उम्मीद नहीं थी.

इस साल की शुरूआत जितनी अच्छी रही थी जिसकी कोई खास उम्मीद ट्रेड विशेषज्ञों को नहीं थी, लेकिन जिसकी एनालिस्ट आस लगाए बैठे थे उस महीने में कोई फिल्म खास खेल नहीं दिखा पाई. इसी साल 25 जनवरी को पद्मावत जैसी फिल्म रिलीज हुई जो कि महीनों से विवादों के साये में थी, लेकिन जब फिल्म रिलीज हुई तो इसने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया.

फरवरी में पैडमैन और सोनू के टीटू की स्वीटी जैसी कम बजट की फिल्में रिलीज हुईं, जिन्होंने अच्छा बिजनेस किया. मार्च में परी, वीरे दी वेडिंग, रेड, हिचकी और बागी-2 जैसी फिल्मों ने अच्छा बिजनेस किया. मई में 102 नॉट आउट और परमाणु जैसी फिल्मों ने अच्छी कमाई की. इसी साल संजू, रेस-3, धड़क, गोल्ड, स्त्री और सत्यमेव जयते जैसी फिल्में भी आईं.

हालांकि जिस महीने में फिल्मों के सबसे अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद होती है उसमें न फिल्मों को दिवाली के वीकेंड का फायदा मिला और न सर्दियों की शुरुआत का. इस महीने की अंत से पहले 2.0 की रिलीज अभी बाकी है. हालांकि इस फिल्म को हम हिंदी सिनेमा की फिल्म के तौर पर नहीं गिन सकते हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि यह फिल्म वास्तव में तमिल भाषा में बनेगी जिसे बाद में हिंदी में डब किया जाएगा.

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.