बुलंदशहर हिंसा का मास्टरमाइंड गिरफ्तार, भीड़ को उकसा रहा था बजरंग दल का नेता

बुलंदशहर बवाल के बाद बिगड़ सकते हैं वेस्ट यूपी के हालात, बेहद खतरनाक हैं खुफिया इनपुट

19

वेस्ट यूपी में गोकशी की वारदात कभी भी माहौल को बिगाड़ सकती हैं। यहां गोकशी की वारदात के बाद सांप्रदायिक तनाव की स्थिति बन जाती है। मेरठ, मुजफ्फरनगर, शामली, सहारनपुर और बागपत समेत कई जनपदों में माहौल खराब करने की साजिश भी हो चुकी है।
खुफिया विभाग कई बार शासन को इनपुट भेज चुका कि वेस्ट यूपी में जिलों में गोकशी जैसे मुद्दों से बवाल कराने की प्लानिंग चल रही है। इसको लेकर पुलिस प्रशासन अलर्ट है। इसके बावजूद बुलंदशहर जिले में बवाल हो गया।

गोकशी पर सांप्रदायिक माहौल बनाकर वेस्ट को सुलगाने की गहरी साजिश है। 2019 चुनाव से पहले वेस्ट यूपी में बवाल हो सकता है, गोकशी विस्फोटक करा सकती है। इसको लेकर खुफिया विभाग शासन को इनपुट कई बार भेज चुका है।

मेरठ, मुजफ्फरनगर, शामली, सहारनपुर समेत कई जिलों में गोकशी पर हिंदू संगठन और दूसरे समुदाय के लोग आमने सामने आए। कई बार स्थिति ऐसी बनी कि गोकशी को लेकर पथराव, वाहनों में तोड़फोड़ व आगजनी की घटना हो चुकी है।

क्या हुआ बुलंदशहर में…?

गौरतलब है कि कल बुलंदशहर के स्याना थाना क्षेत्र के एक खेत में गोकशी की आशंका के बाद बवाल शुरू हुआ। जिसकी शिकायत मिलने पर सुबोध कुमार पुलिसबल के साथ मौके पर पहुंचे थे। इतने में ही तीन गांव से करीब 400 लोगों की भीड़ ट्रैक्टर-ट्राली में कथित गोवंश के अवशेष भरकर चिंगरावठी पुलिस चौकी के पास पहुंच गई और जाम लगा दिया। इसी दौरान भीड़ जब उग्र हुई तो पुलिस ने काबू पाने के लिए लाठीचार्ज और आंसू गैस के गोले छोड़े और जल्द ही वहां फायरिंग भी होने लगी। जिसमें सुबोध कुमार घायल हो गए और एक युवक भी जख्मी हो गया। सुबोध कुमार को अस्पताल ले जाने से रोका गया और उनकी कार पर जमकर पथराव भी किया गया। अब पुष्टि हुई है कि सुबोध कुमार की मौत गोली लगने से हुई है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.