फरीदाबाद : सफाई कर्मचारियों की हड़ताल के समर्थन में सड़को पर उतरा सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा – कहा 17 मई तक नहीं मानी मांगे तो होगी अनिश्चितकालीन हड़ताल !!!

वीरेंद्र सिंह डंगवाल - संगठन सचिव - सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा अशोक कुमार - जिला अध्यक्ष - सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा

29
एंकर : नगर पालिका सफाई कर्मचारी संघ हरियाणा के कर्मचारियों की अपनी मांगो को लेकर चल रही हड़ताल के समर्थन में अब सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के कर्मचारी भी सड़को पर उतर आये है. जिसके चलते आज सर्व कर्मचारी संघ के कर्मचारियो ने लघुसचिवालय पर ज़ोरदार प्रदर्शन किया और सीएम के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौपा। यह प्रदर्शन सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के मुख्य संगठन सचिव और जिला प्रधान के नेतृत्व में किया गया. सर्वकर्मचारी संघ ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा की यदि सफाई कर्मचारियों की मांगे 17 मई तक नहीं मानी गयी तो यह हड़ताल अनिश्चितकालीन हड़ताल में बदल दी जायेगी। 
 
वीओ : फरीदाबाद के सेक्टर 12 स्थित लघुसचिवालय पर प्रदर्शन करते नज़र आ रहे यह सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के कर्मचारी है जो नगर पालिका कर्मचारी संघ के समर्थन में उतरे है. गौरतलब है की नगर पालिका कर्मचारी संघ ने अपनी मांगो को लेकर 9 – 11 मई तक तीन दिन की हड़ताल की थी और सरकार द्वारा बातचीत न होने पर यह हड़ताल 12 – 14 मई तक बढ़ा दी गयी लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला इससे खफा होकर सफाई कर्मचारियों ने अपनी हड़ताल तीन दिन और बढ़ाते हुए इसे 17 मई तक कर दिया। अब सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा भी सफाई कर्मचारियों के समर्थन में उतर  आया है और आज उन्होंने लघुसचिवालय पर ज़ोरदार प्रदर्शन करते हुए सीएम के नाम ज्ञापन सौपा और चेतावनी दी की यदि सफाई कर्मचारियों की मांगे सरकार ने नहीं मानी तो यह हड़ताल अनिश्चितकालीन हड़ताल में बदल दी जायेगी। 
 
वीओ : सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के मुख्य संगठन सचिव वीरेंद्र सिंह डंगवाल और जिला प्रधान अशोक कुमार ने बताया की आज उन्होंने नगर पालिका कर्मचारी संघ की हड़ताल को  हुए सीएम के नाम ज्ञापन सौपा है. उन्होंने कहा की पिछली 9 मई से यह हड़ताल चल रही है लेकिन सरकार ने कोई संज्ञान नहीं लिया और ना ही बातचीत के दरवाजे खोले। उन्होंने सरकार से कहा की नगर पालिका कर्मचारी संघ अकेला नहीं है बल्कि सर्व कर्मचारी संघ के लाखो कर्मचारी उनके साथ खड़े है. उन्होंने कहा की यह कर्मचारियों की बरसो पुरानी मांगे है जिसे सरकार ने अपने चुनावी घोषणापत्र में भी दर्शाया था. उन्होंने सरकार को चेतावनी दी की यदि सरकार ने 17 मई तक मांगे नहीं मानी तो यह हड़ताल अनिश्चितकालीन हड़ताल कर दी जायेगी। 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.