कुम्भ मेला 2019: महानायक अमिताभ बच्चन भी दे रहे हैं दिव्य कुम्भ का आमंत्रण

महानायक अमिताभ बच्चन प्रयागराज से भले ही दूर रहते हों पर समय-समय पर अपने शहर से उनका लगाव सामने आ ही जाता है। चाहे वह कौन बनेगा करोड़पति का मंच हो या फिर कोई और अवसर।

11

महानायक अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) प्रयागराज से भले ही दूर रहते हों पर समय-समय पर अपने शहर से उनका लगाव सामने आ ही जाता है। चाहे वह कौन बनेगा करोड़पति का मंच हो या फिर कोई और अवसर। अब जबकि उनकी जन्मस्थली पर आस्था का महापर्व कुम्भ लग रहा है तो वह भला कैसे रुक सकते हैं।

दिव्य कुम्भ, भव्य कुम्भ स्लोगन के साथ केंद्र और प्रदेश सरकार कुम्भ 2019 (Kumbh 2019) को विश्व का सबसे बड़ा धार्मिक आयोजन बनाने के लिए प्रयासरत है। प्रदेश सरकार के मंत्री देश के विभिन्न राज्यों में जाकर राज्यपाल और मुख्यमंत्री को कुम्भ का आमंत्रण दे रहे हैं। अमिताभ बच्चन के कुम्भ में आने का कार्यक्रम भले न हो पर वह देश-दुनिया के लोगों को बुला रहे हैं। वह भी अपने खास अंदाज में। यूपी पर्यटन विभाग की मुहिम ‘कुम्भ बुला रहा है’ के तहत उनके चार वीडियो मैसेज तैयार किए गए हैं। यह मैसेज यूट्यूब, ट्विटर पर इन दिनों खूब देखे जा रहे हैं।

एक वीडियो में वह कुम्भ स्नान से जुड़ी बचपन की यादें साझा कर रहे हैं तो दूसरे में कुम्भ की आस्था और इससे जुड़े विज्ञान के बारे में जानकारी देते हुए दिखाई दे रहे हैं। वीडियो में अमिताभ बता रहे हैं कि कुम्भ स्नान तन, मन और मतिष्क में नई ऊर्जा का संचार करता है। उनका तीसरा वीडियो प्रयाग के नगर देवता बंधवा स्थित बड़े हनुमान मंदिर को लेकर है तो चौथे में कुम्भ के वैश्विक महत्व की जानकारी देते हुए वह बता रहे हैं कि यूनेस्को ने कुम्भ को विश्व की सबसे बड़ा अमूर्त सांस्कृतिक धरोहर घोषित किया है। जो पूरे देश के लिए गर्व की बात है।

खूब खाते थे दूध और जलेबी
एक वीडियो मैसेज में अमिताभ कह रहे हैं कि प्रयागराज में एक से एक अद्भुत चीज देखने को मिलती है। इसी में से एक है बंधवा के हनुमान जी, जो लेटे हुए हैं। अमिताभ बता रहे हैं कि हनुमान मंदिर किला के पास है फिर कहते हैं-बचपन में हम पहुंच जाते थे वहां और लौटते वक्त हमेशा दूध जलेबी खाते थे, बहुत फेसम है प्रयाग की दूध और जलेबी।

वीडियो में कुम्भ के दृश्य
वीडियो में अमिताभ शॉल ओढ़कर सोफे पर बैठे नजर आ रहे हैं। वीडियो के बैकग्रांउड में पिछले कुम्भ के साधु-संतों के कई मनोहारी दृश्य भी दिखाई दे रहे हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.