करीब 13 साल बाद रिहा होकर पाकिस्तान लौटी नसरीन वही अमृतसर जेल में 50 के करीब है अभी और पाकिस्तानी कैदी

17
अमृतसर की जेल से आज नसरीन अख्तर आखिर कर रिहा हो ही गयी नसरीन अख्तर 2006 में हेरोइन के साथ पकड़ी गई थी और उसे 10 साल की सजा हुई थी लेकिन उसकी रिहाई में कई अड़चने होने की वजह से नसरीन को लगभग 3 साल की सजा जेल में अतिरिक्त कटनी पड़ी जिसके बाद आज नसरीन जेल से रिहा होकर अपने वतन के लिए निकल पड़ी
 अमृतसर की जेल में बंद नसरीन अख़्तर आज जेल से रिहा होकर अपने वतन वापिस लौट गई नसरीन अख्तर को 2006 में कस्टम विभाग  ने हेरोइन के साथ गिरफ्तार किया था और कोर्ट ने नसरीन को 10 साल की सजा सुनाई थी लेकिन नसरीन की रिहाई में कुछ अड़चने होने की वजह से नसरीन को अतिरिक्त 3 साल की सजा अमृतसर जेल में काटनी पड़ी और जुर्माने की रकम भी अदा करनी पड़ी नसरीन के मुताबिक उसे खुशी है की आज उसकी रिहाई हुई है और वह दोबारा अपने परिवार से मिल पाएगी उनका कहना है कि जेल प्रशासन और जेल के अदिकरियो ने उसकी मदद की
 नसरीन अख्तर (कैदी)
 नसरीन की वकील नवजोत कौर चब्बा का कहना है कि नसरीन को जुर्माने के तौर पर जितने पैसे  भरने थे वह रकम उसके रिश्तेदारो  ने भरी और नसरीन ने जेल में काम करके लगभग 56000 रुपये कमाए जो जेल प्रशाशन दुवारा उसे दे दिए गए वही जेल के मुख्य अधिकारी अर्शदीप सिंह गिल ने बताया कि आज अमृतसर जेल से 2 कैदियों को रिहा किया गया है जिनकी सजा पूरी हो चुकी है और उनका चाल-चलन जेल में ठीक था वहीं उन्होंने बताया कि आज उनको कुछ पैसे भी दिए गए हैं और उन्होंने कहा कि नसरीन अख्तर ओर अल्ताफ को रिहा किया गया है वही उन्होंने कहा कि आज मैं अमृतसर के वाघा बॉर्डर के रास्ते  पाकिस्तान रवाना होंगे उन्होंने कहा कि उनका चाल-चलन अमृतसर की जेल के लिए अच्छा था वही उन्होंने कहा कि नसीम नशा तस्करी के आरोप में 13 साल की सजा काट कर वापस जा रही है और वहीं दूसरी ओर अल्ताफ पासपोर्ट एक्ट के कारन  पकड़ा गया था उन्होंने कहा कि अभी 50 के करीब पाकिस्तानी कैदी और  बच्चे  भी हैं
 एडवोकेट नवजोत कौर चब्बा।
 अर्शदीप सिंह गिल (जेल मुख्य अधिकारी)

 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.