इलाज के लिए दिल्ली आ रहे हैं पर्रिकर, क्या छोड़ेंगे CM की कुर्सी?

गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर का इलाज एम्स में होगा. वे कुछ देर में ही चार्टेड विमान से दिल्ली पहुंचेंगे. आपको बता दें कि पर्रिकर लंबे समय से बीमार चल रहे हैं.

2

लंबे समय से बीमार चल रहे पूर्व रक्षा मंत्री और गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का इलाज दिल्ली के एम्स में होगा. पर्रिकर अब से कुछ देर बाद चार्टेड विमान से दिल्ली पहुंचेंगे.

आपको बता दें कि पर्रिकर 6 सितंबर को ही अमेरिका से इलाज कराकर भारत लौटे हैं. वहां करीब एक हफ्ते तक उनका इलाज चला था. इससे पहले मुख्यमंत्री पर्रिकर ने भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह से अनुरोध करते हुए कहा था कि राज्य के नेतृत्व के लिए वैकल्पिक व्यवस्था कराई जाए .

मनोहर पर्रिकर का इलाज होने में लंबा वक्त लग सकता है, इसलिए उन्होंने पार्टी से कोई वैकल्पिक व्यवस्था करने का अनुरोध किया. पार्टी से जुड़े सूत्रों के अनुसार, पर्रिकर ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को फोन कर कहा है कि राज्य में नेतृत्व के लिए कोई दूसरी व्यवस्था की जाए.

उनके अनुरोध के बाद बीजेपी की ओर से अब वहां के हालात का जायजा लेने पार्टी महासचिव रामलाल और बीएल संतोष बतौर केंद्रीय पर्यवेक्षक भेजे जाएंगे. दोनों पर्यवेक्षक यहां के हालात पर केंद्र को रिपोर्ट देंगे.

क्या सुधीन धवलीकर बनेंगे सीएम ?

सूत्रों के मुताबिक महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी के नेता सुधीन धवलीकर को अतिरिक्त कार्यभार दिया जा सकता है. सुधीन को मुख्यमंत्री कार्यालय संभालने की जिम्मेदारी दी जा सकती है.

शुक्रवार शाम को सुधीन ने गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर से अस्पताल में मुलाकात की थी. पिछली बार जब पर्रिकर इलाज कराने के लिए विदेश गए थे तब उन्होंने 3 मंत्रियों को राज्य से जुड़े मामले देखने की जिम्मेदारी दी थी. लेकिन आखिरी फैसला लेना उन्होंने अपने पास रखा था. सूत्रों के मुताबिक एमजीपी नेता सुधीन धवलीकर अपनी पार्टी का विलय भी बीजेपी में कर सकते हैं.

वहीं गोवा विधानसभा के डिप्टी स्पीकर माइकल लोबो ने कहा कि मनोहर पर्रिकर दोपहर 1 बजे दिल्ली के एम्स पहुंचेंगे. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और पीएम नरेंद्र मोदी गोवा के हालात पर नजर बनाए हुए हैं. मुख्यमंत्री के पास जो भी जिम्मेदारियां है वह मंत्रियों में बांटी जाएंगी. वे राज्य के मुख्यमंत्री बने रहेंगे.

पर्रिकर को गुरुवार शाम को कैंडोलिम के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. मुख्यमंत्री कार्यालय के सूत्रों ने उन्हें अस्पताल में भर्ती कराए जाने को लेकर पुष्टि भी की, लेकिन उन्होंने उनकी तबीयत के बारे में ब्योरा देने से इंकार कर दिया.

पर्रिकर (62) इससे पहले भी इलाज के लिए अमेरिका में करीब तीन महीने रहे थे. उन्हें किस तरह की बीमारी है, उस बारे में कोई भी आधिकारिक बयान नहीं आया है. हालांकि, यह बताया गया कि उनके अग्नाशय की बीमारी का इलाज चल रहा है.

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.